समर्थक

बुधवार, 26 फ़रवरी 2014

भाजपा घुटने टेकने को तैयार


मुस्ल‌िमों से भाजपा ने मांगी माफी

मुस्ल‌िमों से माफी मांगने को तैयार है भाजपा: राजनाथ


 आख़िरकार भाजपा ने अपना आखिरी दांव सत्ता प्राप्ति के लिए चल ही दिया .जब भाजपा ने यह देख लिया कि श्री मोदी को आगे करने पर भी वे हिन्दू -समाज को धार्मिक रूप से बहलाने व् फुसलाने में कामयाब नहीं हो पाये तब मुस्लिम-समाज से गलतियों के लिए क्षमा मांगने के लिए भाजपा का शीर्ष नेतृत्व तैयार हो गया . इस तरह घुटने टेकने के तीन ही निहितार्थ हैं -

* श्री मोदी के रूप में छोड़ा गया ब्रह्मास्त्र मिटटी में मिल गया !

* भाजपा ने श्री मोदी के कारण एन.डी.ए. के पूर्व सहयोगियों को खोया उन्हें फिर से जोड़ने का प्रयास है ये !

*भाजपा को दिख गया है कि वे २०१४ के लोक-सभा चुनाव में भी पूर्ण-बहुमत नहीं प्राप्त कर पायेंगें क्योंकि मुस्लिम-वोट उन्हें मिलेंगी नहीं और हिन्दू दोबारा पागल बनेंगें नहीं !

 सत्ता प्राप्ति के लिए पहले राम-मंदिर का मुद्दा गरमाना फिर बाबरी-मस्जिद के गुम्बद तोड़ने के लिए जनता को उकसाना ,गुजरात में गोधरा और साम्प्रदायिक दंगे -ये ऐसे अपराध हैं जिनकी लिए माफ़ी मांगने तक का हक़ भाजपा को नहीं है .बेहतर है वे देश की बागडोर स्थिर सरकार प्रदान करने वाली कॉंग्रेस पार्टी जैसी धर्मनिरपेक्ष पार्टी के पास ही रहने दें !

 शिखा कौशिक 'नूतन'