समर्थक

सोमवार, 17 अक्तूबर 2011

एक नए शोध की आवश्यकता है .


यह   खबर पढ़ी    -येदयुरप्पा के सीने में दर्द, अस्पताल में भर्ती'' तो अनायास  ही निम्न  विचार  मन में  आ गए -
 एक नए शोध की आवश्यकता है .    भ्रष्टाचारी और ह्रदय रोग .जब भी कोई भ्रष्टाचार के आरोप में पकड़ा जाता है उसके दिल में दर्द शुरू हो जाता है .ऐसा क्यों होता है ? यही शोध क़ा विषय होना चाहिए .जिस जनता क़ा शोषण कर ये लोग इतना बड़ा रोग पाल लेते है वो जनता इनके पकडे जाने पर यह आस भी नहीं रख पाती कि अब भ्रष्टाचार क़ा भांडा फूटेगा मगर कमबख्त भ्रष्टाचारी क़ा ह्रदय बीच में आ जाता है और सारा मजा किरकिरा हो जाता है .इतना पैसा तिजोरियों में छुपा कर रखना भी तो आसान बात नहीं न !इतने भेद ! इतने झूठ  ! आखिर दिल तो दर्द करेगा ही .मेरा सभी शोधार्थियों से नम्र निवेदन है कि इस खास विषय पर गहन शोध कीजिये .सफल होने पर शायद नोबेल पुरस्कार तक मिल जाये .मेरी शुभकामनाये आप सभी के साथ है .
                                        शिखा कौशिक 
                           [विचारों का  चबूतरा ]

9 टिप्‍पणियां:

रेखा ने कहा…

सही कहा है आपने ...वाकई इस विषय पर गहन शोध कराए जाने की आवश्यकता है

रविकर ने कहा…

बहुत बढ़िया शिखा जी ||

बधाई स्वीकारें ||

रविकर ने कहा…

भ्रष्टाचारी का सदा, धक्-धक् करे करेज |

जब तक मिले हराम की, करता नहीं गुरेज |

करता नहीं गुरेज, सात पुश्तों की खातिर |

चाहे धन संचयन, होय निर्मम दिल शातिर |

लेकिन लोकायुक्त, कराता छापामारी |

दिल से हो बीमार, मरे वो भ्रष्टाचारी ||

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

अच्छा विषय सुझाया है शोध के लिए ..

सुरेन्द्र सिंह " झंझट " ने कहा…

जान बूझ कर करते रहे महाशय हेराफेरी |
अन्दर जाने में इनके लग गयी बहुत ही देरी |
ऊंची कुर्सी सी एम की कर लिया खूब मनमानी |
फंस गए बच्चू फंदे में अब याद आ रही नानी |

रविकर ने कहा…

रचना चर्चा-मंच पर, शोभित सब उत्कृष्ट |
संग में परिचय-श्रृंखला, करती हैं आकृष्ट |

शुक्रवारीय चर्चा मंच
http://charchamanch.blogspot.com/

दिगम्बर नासवा ने कहा…

थोड़े दिनों में इस बिमारी को राजनेताओं के लिए आरक्षित कर दिया जायगा ...

S.N SHUKLA ने कहा…

सुन्दर सृजन , प्रस्तुति के लिए बधाई स्वीकारें

समय- समय पर मिले आपके स्नेह, शुभकामनाओं तथा समर्थन का आभारी हूँ.

प्रकाश पर्व( दीपावली ) की आप तथा आप के परिजनों को मंगल कामनाएं.

mahendra verma ने कहा…

सचमुच शोध की जरूरत है।
दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं।