समर्थक

सोमवार, 7 मार्च 2011

जय हो ! [भाग-२]

आज ब्लॉग -जगत में सर्वत्र स्त्री-शक्ति का बोलबाला है .एल. बी. ए. की अध्यक्ष पद पर  rekha shrivastav जी की नियुक्ति ,AIBA  के अध्यक्ष पद vandana जी की नियुक्ति ,HBIF पर संरक्षिका पद पर rashmi prabha जी व् कानूनी सलाहकार पद पर shalini जी की नियुक्ति इसके मात्र कुछ उदाहरण हैं .नारी के सर्वाधिक सम्मानीय पद ''माँ '' की महिमा को प्रणाम करते हुए  महत्वपूर्ण ब्लॉग - ''pyari maa '' ब्लॉग जगत में सराहा  जा रहा  हैं .''rachna'' जी के कुशल निर्देशन में ''nari ' व् ''nari ka kavita blog 'समस्त ब्लॉग संसार में अपना अनुपम स्थान बनाये हुए है क्योकि ये दोनों ब्लॉग एक मात्र ऐसे ब्लॉग है जिन पर केवल महिला चिट्ठाकार अपनी पोस्ट प्रकाशित कर सकती हैं .शुभम जैन जी का ''nanhi pari 'ब्लॉग हमारी 'छोटी सी परियों को ब्लॉग जगत से जोड़ रहा है .' akshita pakhi    'का नाम इस दिशा में विशेष रूप से उल्लेखनीय है .इनके अतिरिक्त  ''betiyon ka blog '' व् ''hamari bahan sharmila '' ब्लॉग भी नारी के ब्लॉग जगत में बढते क़दमों की और संकेत कर रहें हैं .
                       आइये फिर से मिलकर कहें --''जय हो ! ''
       ''आओ करें वंदना हम उस देवी की
          जिसकी नूतन दीपशिखा ने जग चमकाया ,
''alokita'   'anita '' या   हो वो ' sangeeta '
सबकी नई ' serjana ' ने मन को है जीता ,
'priyanka 'ने लेखन से की है 'pooja '
''monika ''की पवित्र लेखनी करे अजूबा ,
''veena '' और ''lata '' ने सबका मन हर्षाया .
अपनी अद्भुत प्रतिभा का लोहा मन वाया .

'नारी मुक्ति -''asha '' ने फैलाई ''roshi'नी
सतत-'sadhna' लीन ''ajit'  'shalini'
'anshumala' 'anu ' बढाती चिटठा''garima '' ,
'manvindar' -'padma' के संग संग चले 'neelima'
हर ''deep 'की 'mala 'ने फिजाओं को महकाया .
अपनी अद्भुत प्रतिभा का लोहा मनवाया .
 [कविता में प्रयुक्त महिला -चिट्ठाकारों के ब्लॉग पर जाकर उनका उत्साहवर्धन करें ]
        'अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की हार्दिक शुभकामनायें '
                              ''जय हो !''
लेखिका -shikha kaushik
सहायिका -shalini kaushik

                                   [जारी...........]

2 टिप्‍पणियां:

RAJEEV KUMAR KULSHRESTHA ने कहा…

पर एक बात समझ में नहीं आयी कि मैं उनसे चार कदम कैसे आगे हूँ ??
..ये बात मैंने जिद्दी स्वभाव के बारे में न लिखकर..आप दोनों लोगों के " सबसे प्रेम करने के भाव " के बारे में लिखी है । शालिनी जी ने आपके लिये ये कहा.. ( क्योंकि उसके मन में जीवमात्र के प्रति बहुत ही प्रेम व daya bhav है ).. इसी भावना में आप उनसे चार कदम आगे हो । शालिनी जी का स्वभाव भी अच्छा है । और ऐसा जिद्दी होना मुझे तो बहुत अच्छा लगता है ।
..धन्यवाद शिखा जी आपने अपने मन की बात कही । इस हेतु ।
शालिनी जी का कमेंट -- राजीव जी मैं भी आपके प्रति बहुत बहुत आभार व्यक्त करती हूँ । क्योंकि शिखा मेरी छोटी बहन है । और इस जानकारी से मैं भी सहमत हूँ । ( क्योंकि उसके मन में जीवमात्र के प्रति बहुत ही प्रेम व daya bhav है ) ..kavitayen लिखने में उसकी अद्भुत प्रतिभा की मैं कायल हूँ । और लेख उसकी कलम से अनायास ही प्रकट होते हैं । और हमें चकित कर देते हैं ।

RAJEEV KUMAR KULSHRESTHA ने कहा…

आप दोनों बहनों को मेरी तरफ़ से महिला दिवस की बहुत-बहुत शुभकामनाएँ ।