समर्थक

मंगलवार, 8 मार्च 2011

जय हो ! [भाग-तीन ]

ब्लॉग जगत में महिला चिट्ठाकारों की संख्या दिनोदिन बढ़ रही है .आशा है कि सभी महिला चिट्ठाकार अपने सार्थक लेखन से चिट्ठाजगत को ऐसे ही समृद्ध करती रहेंगी -

''आओ करें वंदना उस देवी की
जिसकी नूतन दीपशिखा ने जग-चमकाया .

आज देख 'asha ' का 'savita'
'ada' -'sada' हैं अति 'mudita ',
उधर 'purnima' बिखराती 'jyotsna'
'deepti'पूर्ण हो रही है 'meena',
'kshama' -'anupma' करती हैं चिट्ठों की 'archna'
'meenakshi'-'' के चिट्ठें 'divya'-'nirmla',
'शिखा'-'शालिनी' की है कामना दूर सभी भय हो ,
बढें सफलता -पथ  पर  हम 
   '''नारी की जय हो !'' 
[कविता में वर्णित महिला चिट्ठाकारों के ब्लॉग पर जाकर उन्हें उत्साह वर्धन करें .हम प्रोफाइल पर जाकर चिट्ठाकार द्वारा बनाये   गए ब्लॉग में से किसी भी एक ब्लॉग का लिंक यहाँ दे रहें हैं .यदि कोई त्रुटि रह जाये तो हम क्षमाप्रार्थी   है .इसे अन्यथा न लें .हमारा उदेश्य महिला चिट्ठाकारों के नाम से चिट्ठाजगत को परिचित कराना मात्र है .जो भी त्रुटि हो टिप्पणी के माध्यम से बताएं .]
 लेखिका-shikha kaushik
सहायिका- shalini kaushik .

11 टिप्‍पणियां:

निर्मला कपिला ने कहा…

चलिये स्पैलिन्ग गलत ही सही कम से कम महिला ब्लागर्ज़ मे स्थान तो मिला। धन्यवाद।

Akshita (Pakhi) ने कहा…

अले, इसमें तो बेबी ब्लागर्स का नाम ही नहीं है.

डॉ॰ मोनिका शर्मा ने कहा…

सुंदर संकलन .... काफी मेहनत की आप दोनों ने... आभार

mahendra verma ने कहा…

आपका यह प्रयास बहुत ही महत्वपूर्ण है।
शुभकामनाएं।

Dinesh pareek ने कहा…

बहुत सुन्दर अच्छी लगी आपकी हर पोस्ट बहुत ही स्टिक है आपकी हर पोस्ट कभी अप्प मेरे ब्लॉग पैर भी पधारिये मुझे भी आप के अनुभव के बारे में जनने का मोका देवे
दिनेश पारीक
http://vangaydinesh.blogspot.com/ ये मेरे ब्लॉग का लिंक है यहाँ से अप्प मेरे ब्लॉग पे जा सकते है

Dinesh pareek ने कहा…

ब्लॉग की दुस्निया में आपका हार्दिक स्वागत |
बहुत ही सुन्दर लिखा है अपने |
अप्प मेरे ब्लॉग पे भी आना के कष्ट करे
http://vangaydinesh.blogspot.com/

हरकीरत ' हीर' ने कहा…

बहुत खूब ......!!

RAJEEV KUMAR KULSHRESTHA ने कहा…

शिखा जी आप हमेशा खङी क्यों रहती हो । सिट डाउन प्लीज । मुझे इस फ़ोटो से बङा अजीव सा फ़ील होता है । आपको होली की अग्रिम शुभकामनायें । बाद में व्यस्ततावश शायद न दे सकूँ ।

ज्ञानचंद मर्मज्ञ ने कहा…

बहुत ही सार्थक,सुन्दर और सराहनीय प्रयास !

सुरेन्द्र सिंह " झंझट " ने कहा…

bahut hi sundar aur sarthak prastuti.

डॉ० डंडा लखनवी ने कहा…

आपका होली के अवसर पर विशेष ध्यानाकर्षण हेतु.....
==========================
देश को नेता लोग करते हैं प्यार बहुत?
अथवा वे वाक़ई, हैं रंगे सियार बहुत?
===========================
होली मुबारक़ हो। सद्भावी -डॉ० डंडा लखनवी