समर्थक

शनिवार, 19 जनवरी 2013

चिंतन शिविर के बाद करना है ये काम


करना है सतत प्रयास , हो देश का उत्थान ,
चिंतन शिविर के बाद करना है ये काम ,
है कठिन पथ  , कष्ट हैं महान ,
उठो , जागो -राहुल जी अब कहाँ विश्राम !

           शिखा कौशिक 'नूतन '

MR.rahul gandhi-change your work style

कोई टिप्पणी नहीं: